भूमाफियाओं ने अवैध प्लाटिंग कर शासन को पहुंचाया 200 करोड़ का नुकसान … वार्ड पार्षद ने अवैध प्लाटिंग की जांच और दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने कलेक्टर से की मांग …

बिलासपुर // ज़िले में भूमाफियाओं और राजस्व अधिकारियों, पटवारियों की आपसी सांठगांठ और याराना के चर्चो तो अक्सर सुनने को मिलते है , इसी सांठगांठ के दम पर ये भूमाफिया किसानों की जमीनों को सस्ते दामो में खरीद कर उसमें अवैध प्लाटिंग कर ऊंचे दामो में बेच मालामाल हो रहे है ,और तो और ये भूमाफिया खुलेआम सरकारी जमीनों,तालाबों, गोचर भूमि, पर कब्जा कर उन्हें भी बेचने से नही चूकते इन जमीनों पर ये भूमाफिया शासन की बिना अनुमति के अवैध प्लाटिंग कर बेच रहे है, प्लाट खरीदने वालों को ये ऊंचे ऊंचे सब्जबाग दिखाते है , तमाम सुविधाओं का हवाला देते है पर अवैध प्लाटिंग में किसी भी प्रकार की कोई सुविधा ये नही देते , ना पक्की रोड , ना नाली, बिजली जैसी कोई सुविधा उपलब्ध नही होती, प्लाट खरीदने के बाद अक्सर लोग पछतावा करते है और खुद को ठगा हुआ महसूस करते है । अवैध प्लाटिंग से शासन को भी लाखों करोड़ों के राजस्व का नुकसान उठाना पड़ता है । इन मामलों में कई बार शिकायत भी हो चुकी हैं, लेकिन अधिकारियों के कानों में जु तक नही रेंगती, शिकायत होने के बावजूद अब तक किसी पर कोई कार्यवाही नही की गयीं है ।

बिलासपुर के मोपका क्षेत्र मे भूमाफियों द्वारा की जा रही अवैध प्लाटिंग पर रोक लगाने और कड़ी कार्यवाही करने के संदर्भ में कलेक्टर से शिकायत की गई है । वार्ड क्रमांक 47 की पार्षद ने कलेक्टर से गुहार लगा कर क्षेत्र में हो रही अवैध प्लाटिंग पर रोक लगाने के साथ साथ 7 बिन्दुओं पर ध्यान देने की मांग की है ।

1- बिलासपुर के वार्ड क्रमांक 47 में भूमाफिया द्वारा अवैध प्लाटिंग किया जा रहा है जिसमें रोड,नाली, बिजली, पानी की कोई व्यवस्था नहीं है । 2- अवैध प्लाट में भवन निर्माण के पश्चात जनता द्वारा सड़क बिजली पानी नाली की मांग जनप्रतिनिधि एवं शासन से की जा रही है। 3 – अवैध प्लाटिंग में आज वर्तमान में वार्ड क्रमांक 47 में शासन द्वारा सड़क बिजली पानी नाली की निर्माण कार्य करने पर 200 करोड़ से अधिक की राशि का जरूरत है सीधे यह कहा जा सकता है कि भूमाफिया द्वारा शासन को 200 करोड़ से अधिक की क्षति दे दी है। 4 – भूमाफिया द्वारा अपने फायदे के लिए रोड को बंद कर दूसरे मार्ग को चालू कर देते हैं जिससे भूमाफियों का निजी हित हो और जिस भूमि स्वामी का प्लाट में रास्ता नहीं मिलता है वह काफी परेशान हो कर सस्ते में अपनी जमीन को भूमाफियाओं को बेच देते हैं। 5 – भूमाफिया द्वारा मुरूम रोड बनाया गया है जिससे जनता के आवागमन में धूल का काफी सामना करना पड़ता है, वही स्वास्थ पर असर पड़ रहा है, इसके लिए भूमाफिया जिम्मेदार हैं। 6 – राजस्व विभाग द्वारा भूमाफिया को अवैध प्लाट काटकर बेचने पर कठोर कार्रवाई नहीं की गई जिसके कारण भू माफियाओं के हौंसले बुलंद है और मनमानी तरीके से अवैध प्लाट काटकर खरीदी बिक्री का कार्य कर रहे हैं। 7 – भूमाफिया द्वारा किसी भी प्रकार का टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। यह भी जांच का विषय है।

कलेक्टर से भूमाफियाओंके द्वारा किया जा रहा अवैध प्लाटिंग की जांच कर सख्त कार्यवाही करने की मांग वार्ड क्र.47 की पार्षद ने की है।

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

मस्तूरी में बाढ़ का खतरा, डॉ बाँधी ने की मुख्यमंत्री से अपील ,, विधायक की मांग पर सीएम भूपेश ने आपदा प्रबंधन व अधिकारियों को दिए निर्देश ,,

Fri Aug 28 , 2020
मस्तूरी में बाढ़ का खतरा, डॉ बाँधी ने की मुख्यमंत्री से अपील, विधायक की मांग पर सीएम भूपेश ने आपदा प्रबंधन व अधिकारियों को दिए निर्देश ,, बिलासपुर // बिलासपुर में बुधवार से हो रही भारी बारिश के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है निचली बस्तियों में पानी भर […]

You May Like

Breaking News