• Sun. Jul 21st, 2024

News look.in

नज़र हर खबर पर

ट्रेनिंग ही सर्विस की नींव होती है… आप अबसे राष्ट्रीय सम्पति है, समाज को बेहतर बनाने योगदान दे… डायरेक्टर डांगी ने किया प्रशिक्षणाधीन उपपुलिस अधीक्षकों को  संबोधित…

ट्रेनिंग ही सर्विस की नींव होती है… आप अबसे राष्ट्रीय सम्पति है, समाज को बेहतर बनाने योगदान दे… डायरेक्टर डांगी ने किया प्रशिक्षणाधीन उपपुलिस अधीक्षकों को संबोधित…

रायपुर/बिलासपुर, दिसंबर, 01/2022

राज्य पुलिस अकादमी चन्द्रखुरी के निदेशक रतन लाल डांगी ने प्रशिक्षणाधीन उपपुलिस अधीक्षकों को संबोधित करते हुए कहा की किसी भी सर्विस के लिए प्रशिक्षण बहुत ही महत्वपूर्ण होता है ।जो भी व्यक्ति प्रशिक्षण के दौरान सजग एवम् रुचि लेकर सिखता है उसे फील्ड में किसी भी प्रकार की चुनौती आने से आसानी से हल कर लेता है ।

पुलिस सेवा में आपको आने का मौक़ा मिला है जिस पर आपको गर्व महसूस करना चाहिए । आप लोगों को तत्काल मदद कर सकते है । पीड़ित को हिम्मत एवम् साहस देने के साथ साथ न्याय भी दिला सकते है । पुलिस की वर्दी लोगों को आत्मविश्वास देती है ।आपको लोगों की अपेक्षाओं पर खरा उतरना चाहिए ।आपको फ़रियादियों को धैर्य के साथ सुनना चाहिए ।पीड़ितों को न्याय दिलाने के साथ साथ सहानुभूति भी रखनी चाहिए । आपको आम लोगों के साथ वो बर्ताव नहीं करना चाहिए जो आप स्वयं सिविलियन होते हुए पुलिस से नहीं चाहते थे ।

पुलिस लोगों की सुरक्षा एवम् सेवा के लिए है ।पुलिस की नौकरी आपको केवल अपनी मेहनत से ही नहीं मिली है बल्कि पीड़ितों की दुआओं का भी बहुत बड़ा योगदान है ।ज़रूर पीड़ित ने भी दुआएँ की होगी की कोई ऐसा व्यक्ति आएँ जो उसकी मदद कर दे ।उसकी दुआओं से आपको पद मिला है ।

अपका अपना व्यवहार ही आपकी सफलता का आधार है ।हर व्यक्ति का आत्मसम्मान है उसका सम्मान आपको करना चाहिए । हर व्यक्ति के मानवाधिकारों का सम्मान करना चाहिए।आप युवाओं के रोल मॉडल है इसलिए आपको अपना चाल,चलन एवम् चरित्र भी उच्च कोटि का रखना होगा । जिससे युवा आपका अनुसरण करके आपके जैसा बनने का ख़्वाब पाल सके ।

आपको ऐसी बुराइयों से भी दूर रहना होगा जिसको समाज में अच्छी नज़र से नहीं देखा जाता है ।
आपको अपने अधीनस्थों के साथ भी अच्छा बर्ताव करना होगा । वो ही आपकी ताक़त होती है ।पुलिस टीम भावना से काम करने से ही सफल होती है ।
आपको तनाव से दूर रहना चाहिए ।शांत मन से निर्णय लेने से ही हमेशा सही परिणाम आता है । आपको न केवल शारीरिक रूप से मजबूत होना चाहिए बल्कि मानसिक रूप से भी मजबूत होना होगा ।

पारिवारिक जीवन एवं सर्विस में संतुलन बनाकर चलना चाहिए ।आपको यह ध्यान रखना चाहिए की आपके कारण कोई दुखी ना हो ।आप किसी के दुख का कारण न बने ।आपके पास आने वाले हर व्यक्ति को सुनना चाहिए ।तभी उसकी समस्या को आप समझ पायेंगे । आपको स्वयं अनुशासित रहना होगा तभी किसी को आप अपना उदाहरण दे पायेंगे । अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखे ।आप अबसे राष्ट्रीय सम्पति है । समाज को बेहतर बनाने योगदान दे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *