उपस्वास्थ्य केंद्र का ही स्वास्थ खराब एक महिला डॉक्टर पर 45 गांवो की जिम्मेदारी ।।


21 Sep, 2019

बीजापुर- छग राज्य में स्वास्थ्य महकमा सुधरने का नाम ही नही ले रहा आलम ये है कि राज्य के कई जिलों में ना डॉक्टर है ना नर्स है स्थानीय निवासियों को प्राथमिक उपचार तक नही मिल पाता लोगो को कई किलोमीटर दूर जाकर इलाज करवाना पड़ता है। ऐसे ही छग के बीजापुर जिले के मद्देड उपस्वास्थ्य केंद्र में स्टाफ की कमी के कारण मरीजों को इलाज कराने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।इस केंद्र के अंतर्गत करीब 45 गांव आते हैं,और सिर्फ एक महिला चिकित्सक सेवा दे रही है। यदि कोई मरीज किसी बीमारी से जूझता है तो उसे फौरन अस्पताल में भर्ती किया जाता है।अस्पताल के डॉक्टर भी उस व्यक्ति को जीवन देने के लिए पूरी कोशिश करते हैं पर यंहा की कहानी कुछ और ही बयां करती है जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे और सोचने पर मजबूर हो जाएंगे।

जिले के इस उपस्वास्थ्य केंद्र की हालत देखकर आप सिर पकड़ लेंगे इस अस्पताल को देखकर ऐसा लगता है जैसे कोई मरीज यहां अगर आता होगा ,तो यहां से वापस डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारी लेकर वापस जाता होगा। यहां मरीजों को घंटों इंतजार करना पड़ता है।बारिश के पानी की वजह से परिसर के आसपास गन्दा जल जमा हो गया है, जिससे डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारी फैलने का खतरा बना रहता है।अस्पताल में स्टाफ की कमी के कारण रेसीडेंट स्कूल आश्रम के बच्चों और ग्रामीणों को ज्यादा परेशानी हो रही है।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव का ऐलान 21 अक्टूबर को होंगे मतदान

Sat Sep 21 , 2019
नई दिल्ली / चुनाव आयोग ने महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान कर दिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा ने आज दोपहर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए चुनाव तारीखों का ऐलान किया है। इसी के साथ दोनों ही राज्यों में आचार संहिता लागू हो गई है। दोनों […]

You May Like

Breaking News