“ पढ़ई तुंहर दुआर ” योजना में ऑनलाइन पढ़ाई के लिए 12 हजार से अधिक शिक्षक और 99 हजार से अधिक बच्चों ने कराया पंजीयन ….

बिलासपुर // कोरोना संक्रमण के चलते जारी लॉकडाउन के कारण स्कूलों की पढ़ाई बाधित न हो इसके लिए छत्तीसगढ़ शासन ने अभिनव पहल करते हुए “पढ़ई तुंहर दुआर” योजना शुरू की है। इसके माध्यम से स्कूली छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है। जिले में इस योजना के अंतर्गत 12 हजार से अधिक शिक्षकों ने तथा 99 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं ने अपना पंजीयन करा लिया है।

“पढ़ई तुंहर दुआर” योजना 7 अप्रैल 2020 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लॉन्च की थी। इसके लिए पोर्टल www.cgschool.in पर ऑनलाइन पंजीयन कराया जा रहा है। इस पोर्टल में पंजीकृत शिक्षकों द्वारा विषय आधारित पाठ्य सामग्री जैसे कि वीडियो, पीडीएफ आदि अपलोड की जा रही है। इसका लाभ छात्र-छात्राएं घर बैठे उठा सकते हैं। इसके अलावा प्ले स्टोर से जूम एप में ऑनलाइन रहकर पढ़ाई की सुविधा उपलब्ध होगी। इन कक्षाओं में शिक्षक बच्चों को पढ़ायेंगे और बच्चे प्रश्न भी पूछ सकेंगे। इस प्रकार ऑन लाइन क्लाहस का अनुभव कक्षा जैसा ही रहेगा।
बच्चों को ऑन लाइन होम वर्क भी दिया जायेगा। उसे वे घर पर ही अपनी कॉपी में हल करेंगे और अपने मोबाइल से फोटो खींचकर उसे पोर्टल पर अपलोड कर देंगे। इसके बाद संबंधित शिक्षक उसे जांच कर वापस विद्यार्थी को भेज देंगे। इस प्रकार विद्यार्थी घर बैठे ही अपनी कमजोरियों को समझ कर उन्हें दूर कर सकेंगे।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

एक लाख 92 हजार से अधिक बच्चों को सूखा मध्यान्ह भोजन वितरित ....

Mon Apr 13 , 2020
बिलासपुर // कोविड-19 के संक्रमण के विस्तार को रोकने के लिए लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मध्यान्ह भोजन योजना के तहत जिले में 1691 प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शालाओं के 1 लाख 92 हजार छात्र-छात्राओं को सूखा भोजन वितरित कर दिया गया है।जिला शिक्षा अधिकारी ने […]

You May Like

Breaking News