हिमालया बेबीकेयर का ” माय बेबी एंड मी ” एजुकेशन हेल्थ केयर आयोजित…65 से अधिक महिलाएं बनी कार्यक्रम का हिस्सा…

बिलासपुर // हिमालया बेबीकेयर के तत्वाधान में ” माय बेबी एन्ड मी “ हेल्थ केयर एजुकेशन प्रोग्राम का आयोजन बिलासपुर में आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य था कि माताओं को टीकाकरण,नवजात शिशुओं की सेहत की जांच और हाल ही में जन्म देने वाली माताओं के लिए प्रसव के बाद किस तरह खुद की और बच्चे की देखभाल की अहमियत बताने और सही जानकारी देने के लिए किया गया। बच्चों की सेहत और विकास संबंधित चिंताओं को दूर करने का प्रयास करते हुए हिमालया ने यह पहल की है इस कार्यक्रम के अंतर्गत शहर के डॉक्टरों के साथ इंटरैक्टिव सत्र के माध्यम से माताओं को शिक्षित किया गया । हिमालया की माय बेबी एन्ड मी एक राष्ट्रीय पहल है पिछले कुछ वर्षों में इसका आयोजन इंदौर, अहमदाबाद, कोच्चि, जयपुर, कोलकाता, नागपुर,देहरादून जैसे 34 बड़े शहरों में किया जा चुका है ।

हिमालया बेबीकेयर के बिजनेस हेड चक्रवर्ती ने बताया कि माता-पिता के पास आमतौर पर अपने बच्चे की सेहत,सोने के तरीके, शिशु की मालिश आदि के संबंध में कई सवाल होते है और वे इनका सही जवाब ढूंढने की कोशिश करते है। माय बेबी एन्ड मी की पहल माताओं के लिए एक मंच है जहाँ वो डॉक्टरों और अन्य माताओं के साथ खुली चर्चा करती है।इस माध्यम से उन्हें अपनी और बच्चों की स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं का समाधान मिलता है । इस कार्यक्रम में 65 से अधिक महिलाओं ने हिस्सा लिया । कार्यक्रम में मुख्य रूप से स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. सविता सिंह गौतम, बाल विशषज्ञ डॉ. शशांक सिंह और फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. विक्रम द्विवेदी मौजूद रहे।

कार्यक्रम के दौरान डॉ शशांक ने कहा कि नवजात शिशुओं के लिए नियमित स्वस्थ जांच महत्वपूर्ण है और वेक्सिनेशन से बच्चों को गंभीर बीमारियों से सुरक्षित रखने का प्रभावशाली तरीका है “माय बेबी एन्ड मी” पोस्टनैटल केयर, पोस्टमार्टम फैमिली प्लानिंग और स्तनपान के बारे में महत्वपूर्ण संदेशों का प्रसार करने का अवसर देता है वही डॉ सविता ने बताया कि नियोनेटल की अवधि (जन्म से 28 दिनों तक के बाद) का समय अधिक खतरे का होता है यह वक़्त माँ और बच्चे दोनो के लिए महत्वपूर्ण होता है। महिलाओं को फल,सब्जियों व दालों से भरपूर सेहतमंद आहार का सेवन करना चाहिए स्वस्थ आहार से माँ एक्टिव बने रहने और शिशु की देखभाल व रोग प्रतिरोधक प्रणाली को बेहतर काम करने में मदद मिलती है ।

हिमालया केअर के स्वास्थ शिविर में माताओं को गर्भावस्था के बाद का दर्द प्रबंधन व शिशु की मालिश संबंधी , गर्भावस्था के पूर्व उनके आहार कैसे हो जो माँ और शिशु दोनो के लिए महत्वपूर्ण हो जानकारी दी गयी ।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

किसानों ने मुख्यमंत्री बघेल से मांगी इच्छा मृत्यु ...कलेक्टर को दिए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन में बताई ये वजह ....

Wed Feb 26 , 2020
बिलासपुर // जिले के तखतपुर विधानसभा के लाखासार गांव से पहुंचे ग्रामीणों ने धान ना खरीदे जाने की शिकायत करते हुए मुख्यमंत्री से इच्छा मृत्यु मांगी और संबंधित धान खरीदी केंद्र के डीएमओ को निलंबित करने की मांग की। लाखासार गांव से पहुंचे किसानों के समूह ने बुधवार की दोपहर […]

You May Like

Breaking News