• Mon. Jun 24th, 2024

News look.in

नज़र हर खबर पर

अपोलो : निशा सिंह की लापरवाही से हुई मौत को लेकर बिलासपुर में आज से चलेगा पोस्टकार्ड अभियान ,, दोषी डॉक्टर पर त्वरित कार्रवाई के लिए अपोलो अस्पताल के मालिक, “डॉ प्रताप रेड्डी को भेजे जाएंगे हजारों हजार शिकायती पोस्टकार्ड ,,

निशा सिंह की लापरवाही से हुई मौत को लेकर बिलासपुर में आज से चलेगा पोस्टकार्ड अभियान ,,

दोषी डॉक्टर पर त्वरित कार्रवाई के लिए अपोलो अस्पताल के मालिक, “डॉ प्रताप रेड्डी को भेजे जाएंगे हजारों हजार शिकायती पोस्टकार्ड ,,

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय केशरवानी ने दिया पोस्टकार्ड अभियान को समर्थन ,,

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष आज दोपहर को एक बजे शहर के मेन पोस्ट ऑफिस से अपोलो प्रमुख रेड्डी के नाम लिखा अपना पोस्ट कार्ड पोस्ट करेंगे ,,

वहीं बड़ी संख्या में बिलासपुरवासी भी शहर के विभिन्न पोस्ट ऑफिस से अपोलो प्रमुख के नाम पोस्टकार्ड भेजेंगे ,,

बिलासपुर(शशि कोन्हेर) // अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों की लापरवाही के कारण हुई, निशा सिंह की मौत का मामला पूरे शहर को झकझोर रहा है। बेहद मामूली से ऑपरेशन और उपचार के दौरान शहर की बेटी निशा सिंह कि जिस तरह संदिग्ध मौत हुई है उसे लेकर बिलासपुर का आम जनमानस और खासकर युवा वर्ग काफी आक्रोशित है। इस मामले को लेकर एक आम धारणा बन गई है कि डॉक्टरों की लापरवाही ने ही निशा की हंसती खेलती जिंदगी समाप्त कर दी।

बेशक.. यदि अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों ने लापरवाही नहीं बरती होती, तो आज शहर की बेटी निशा सिंह हम सबके बीच मौजूद रहती। उसकी मौत से सदमे में आए उसके परिवार और उनकी और जान पहचान के लोगों के अलावा बिलासपुर शहर के लोग भी भड़के हुए हैं। यही वजह है कि लॉकडाउन के बावजूद निशा सिंह की मौत के लिए जिम्मेदार डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर.. एक आग शहर में सभी के मन में धधक रही है। इस मांग के समर्थन में लॉकडाउन के बावजूद, लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए लगातार आंदोलन, धरना और प्रदर्शन का सिलसिला चल रहा है। यह शर्मनाक है कि, अपोलो अस्पताल प्रबंधन इस मामले में निशा की मौत के लिए जिम्मेदार डॉक्टर पर कार्रवाई करने की बजाय पूरे मामले में लीपापोती करता नजर आ रहा है।

बिलासपुर में स्थापना के बाद से लगातार अपोलो अस्पताल का चिकित्सा के क्षेत्र में विशेष सम्मानजनक स्थान बना हुआ है। वहां की नर्सिंग और उच्चस्तरीय इलाज का बिलासपुर शहर कायल रहा है‌‌। लेकिन समय-समय पर चिकित्सकीय लापरवाहियों के कारण निशा सिंह की मौत सरीखे मामलों से अपोलो जैसे प्रतिष्ठित संस्थान की छवि पर धूमिल होने के साथ ही उसकी चिकित्सकीय साख पर बट्टा लगता रहा है। कायदे से अपोलो प्रबंधन को ऐसे मामलों में लापरवाही बरतने वाले चिकित्सक अथवा चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें कानून के हवाले करने में पूरी तत्परता से अपना भी सहयोग देना चाहिए। अगर ऐसा किया जाता तो अपोलो प्रबंधन और अस्पताल की व्यावसायिक प्रतिष्ठा में चार चांद लग सकते थे।

लेकिन अफसोस कि, जब-जब ऐसी घटनाएं हुई हैं,अपोलो प्रबंधन एक अजीब सी खामोशी ओढ़कर पूरे मामले को रफा-दफा करने में आपराधिक दिलचस्पी दिखाता नजर आता है। हंसती खेलती शहर की बेटी निशा सिंह की लापरवाही जन्य मौत से बिलासपुर शहर का जनमानस काफी गुस्से में है। यह तो गनीमत है कि लॉक डाउन की मर्यादाओं से बिलासपुर के लोग बंधे हुए हैं। अन्यथा इस मामले में न्याय की मांग को लेकर बिलासपुर की सड़कों पर जनसैलाब उमड़ सकता था। हालांकि आक्रोश का यह “सैलाब” अभी लोगों के मन में उमड़-घुमड़ रहा है। और लोग निशा सिंह की मौत के लिए जिम्मेदार डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई होते तक विरोध की अलख जलाए रखने के मूड में दिखाई दे रहे हैं।

इसी क्रम में अपोलो अस्पताल के स्थानीय प्रबंधन द्वारा इस मामले में की जा रही आपराधिक लीपापोती के खिलाफ बिलासपुर के लोग अपोलो अस्पताल के सर्वेसर्वा और मालिक डॉ प्रताप रेड्डी को पूरे शहर से हजारों हजार पत्र लिखकर भेजने लिए आज से ही पोस्टकार्ड अभियान चलाने जा रहे हैं, इस अभियान के तहत शहरवासी डॉ प्रताप रेड्डी को पत्र लिखकर उन्हें निशा सिंह की मौत के मामले में बरती गई लापरवाही को लेकर दोषी चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे। पत्र में डॉ प्रताप रेड्डी को इस मामले की सच्चाई से अवगत कराते हुए बताया जाएगा कि किस तरह कुछ डॉक्टरों की लापरवाहियों से निशा सिंह की मौत सरीखे मामलों के चलते अपोलो अस्पताल की प्रतिष्ठा तार-तार हो रही है।

पत्र में डॉक्टर प्रताप रेड्डी से आग्रह किया जाएगा कि वे बिलासपुर की जनता को न्याय देने के अलावा अपोलो अस्पताल की प्रतिष्ठा को बचाने के लिए निशा सिंह की मौत के मामले में जिम्मेदार डॉक्टर के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें। यह अच्छी बात है कि बिलासपुर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय केशरवानी द्वारा अपोलो के खिलाफ उमड़ रही जन भावनाओं को देखते हुए इस पोस्टकार्ड अभियान को पूर्ण समर्थन देने का फैसला लिया है। वे स्वयं भी अपोलो प्रबंधन के सर्वे सर्वा डॉ प्रताप रेड्डी को अपनी ओर से एक पत्र लिखकर इस पोस्टकार्ड अभियान में शामिल होंगे। केशरवानी अपोलो अस्पताल के सर्वेसर्वा और प्रमुख प्रताप रेड्डी के नाम एक पोस्टकार्ड लिखकर, शहर के मेन पोस्ट ऑफिस से आज दोपहर को 1 बजे पोस्ट करेंगे। जिसमें वे प्रताप रेड्डी से निशा सिंह की मौत के जिम्मेदार अपोलो के जिम्मेदार डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे। विजय केशरवानी के समर्थन से इस आंदोलन को बल ही मिलेगा। जानकारी मिली है कि विजय केशरवानी के अलावा भी आज ही बड़ी संख्या में लोग, शहर के विभिन्न पोस्ट ऑफिस से डॉ रेड्डी के नाम ऐसे ही सैकड़ों पत्र भेजेंगे । उम्मीद की जानी चाहिए कि शहर के विभिन्न राजनीतिक, गैर राजनीतिक तथा महिला संगठनों के लोग इस पोस्टकार्ड अभियान में अपनी सक्रिय भूमिका निभाकर अधिक से अधिक संख्या में डॉ प्रताप रेड्डी को पत्र भेजेंगे। जिससे उन्हें यह पता लगे कि अपोलो बिलासपुर में हो रही कारगुजारिओं से किस तरह अपोलो अस्पताल नामक संस्था की प्रतिष्ठा को बट्टा लग रहा है।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Related Post

ठेकेदार की मनमानी… बेतरतीब नाला निर्माण से लोगो की जान आफत में… बड़ी दुर्घटना हुई तो कौन होगा जिम्मेदार ?… निगम अधिकारीयों का उदासीन रवैया… घरों में कैद होने मजबूर वार्डवासी…
लोकतंत्र सेनानियों का श्राप लगा भूपेश सरकार को… सच्चिदानंद उपासने… 26 जून को मुख्यमंत्री के आवास में साय का स्वागत करेंगे सेनानी…
जमीन फर्जीवाड़ा : पहले सरकारी जमीन को निजी व्यक्ति के नाम चढ़ाया फिर बेच दी लाखो में… जमीन दलाल और पटवारी की मिलीभगत… मामला उजागर हुआ तो रजिस्ट्री हुई शून्य… न्याय की आस में भटक रहे पीड़ित…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed