• Mon. Jun 24th, 2024

News look.in

नज़र हर खबर पर

छठ पूजा में शामिल हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल,और विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत,अरपा को बताया जीवनदायनी ..

अरपा सदा बहती रहे यह हम सबके लिये बेहद जरूरी हैः- मुख्यंमत्री
बिलासपुर // अरपा जीवनदायिनी नदी है, यह हमेशा बहती रहे, यह हम सबके लिये बेहद जरूरी है। नदी का प्रवाह बनाये रखने के लिये हमें व्यवस्था करनी है। हमने संकल्प लिया है कि आने वाले समय में अरपा का घाट और भी सुंदर बनेगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गुरुवार को अरपा नदी पर स्थित छठघाट में छठ पूजा कार्यक्रम में यह बातें कही। उन्होंने अरपा मैया की आरती भी उतारी। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष चरण दास महंत भी विशेष रूप से उपस्थित थे।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि छठ पूजा केवल धार्मिक दृष्टि से नहीं, बल्कि सामाजिक दृष्टि से भी जरूरी है। उनके लिये भी जरूरी है जो अपने जड़ों से कट रहे हैं। उन बेटों के लिये जरूरी है जो इस पर्व के बहाने घर आते हैं। उन माताओं के लिये जरूरी है जो इस पर्व के बहाने अपने संतानों को देख लेती हैं। उन परिवारों के लिये भी जरूरी है जिनके सदस्य रोजी-रोटी के लिये देश और दुनिया के अलग-अलग क्षेत्रों में रहते हैं और छठपर्व मनाने के लिये एकत्रित होते हैं। उन नयी पौध के लिये भी जरूरी है जो नदियों को केवल किताबों में देखते हैं। यह पूजा उस परंपरा को जिंदा रखने के लिये भी जरूरी है जो उस समानता की वकालत करता है कि बिना पुरोहित के भी पूजा होती है और उगते सूरज को ही नहीं, बल्कि डूबते सूरज को भी सलाम किया जाता है। भूपेश बघेल ने कहा कि यह छठ पूजा उन पुरूषों के लिये भी जरूरी है जो नारी को कमजोर समझते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार छठ पर्व पर अवकाश देने वाला बिहार के बाद दूसरा राज्य है। कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष एवं बिल्हा क्षेत्र के विधायक धरमलाल कौशिक ने कहा कि छठ पूजा के पूर्व जीवनदायिनी अरपा नदी की पूजा व आरती करने की परंपरा है। इसके पीछे यह पवित्र भावना है कि नदी को प्रदूषण मुक्त रखें और इसमें सतत् जल का प्रवाह होता रहे। उन्होंने बताया कि अरपा नदी से बिल्हा में पांच हजार एकड़ क्षेत्र में सिंचाई होती है। इस नदी पर अरपा-भैंसाझार परियोजना के पूर्ण होने से 67 हजार एकड़ में सिंचाई होगी। कार्यक्रम में बिलासपुर विधायक शैलेष पाण्डेय, तखतपुर विधायक रश्मि सिंह, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, कलेक्टर डॉ.संजय अलंग, पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, छठपर्व आयोजन समिति के सदस्य तथा महिलाएं, पुरूष, बच्चे, बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Related Post

ठेकेदार की मनमानी… बेतरतीब नाला निर्माण से लोगो की जान आफत में… बड़ी दुर्घटना हुई तो कौन होगा जिम्मेदार ?… निगम अधिकारीयों का उदासीन रवैया… घरों में कैद होने मजबूर वार्डवासी…
जमीन फर्जीवाड़ा : पहले सरकारी जमीन को निजी व्यक्ति के नाम चढ़ाया फिर बेच दी लाखो में… जमीन दलाल और पटवारी की मिलीभगत… मामला उजागर हुआ तो रजिस्ट्री हुई शून्य… न्याय की आस में भटक रहे पीड़ित…
छत्तीसगढ़ के 288 हाजी सफर-ए-हज के लिए नागपुर से हुए रवाना, हज कमेटी के अध्यक्ष ने दिखाई हरी झंडी… देश में अमन चैन और खुशहाली की खातिर दुआ करने चेयरमैन असलम ने हाजियों से की गुजारिश…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed