पीएमसी बैंक घोटाल – एचडीआईएल के चैयरमैन गिरफ्तार

मुंबई। आर्थिक अपराध शाखा ने एचडीआईएल के एक्जीक्यूटिव चेयरमैन राकेश कुमार वाधवान और वाइस चेयरमैन सारंग कुमार वाधवान को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। पीएमसी बैंक घोटाले मामले में यह पहली गिरफ्तारी हुई है। इससे पहले 26 सितंबर को मुंबई पुलिस ने दो शिकायतें मिलने के बाद कंपनी के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक सारंग वधावन को पेश होने के लिए कहा था। बता दें कि, पीएमसी बैंक ने अपनी कुल पूंजी का 73% अकेले इस रियल एस्टेट कंपनी को दे दिया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस कार्रवाई के साथ ही दोनों की 3500 करोड़ रुपए की संपत्ति भी जब्त कर ली गई है। राकेश कुमार वाधवा कंपनी के कार्यकारी अध्यक्ष हैं, जबकि सारंग प्रबंधकीय निदेशक हैं। सरकार ने इससे पहले इन दोनों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया था, ताकि ये दोनों भारत से भाग ना सकें। पीएमसी बैंक को कर्ज में डुबाने वाले 44 बड़े अकाउंटों में 10 खाते इसी कंपनी और वाधवान से जुड़े हुए हैं। उन 10 खातों में से एक सारंग वाधवान और दूसरा राकेश वाधवान का निजी खाता है।

मुंबई पुलिस के पास दर्ज FIR के मुताबिक, बैंक के लगभग आधे संदिग्ध कर्ज राकेश और सारंग वाधवन के खाते में ट्रांसफर किए गए थे। सूत्रों के मुताबिक, जांचकर्ताओं को इसका डर है कि कहीं इस रकम की लॉन्ड्रिंग करके कई चरणों में प्रमोटर पिता-पुत्र के विदेशी खातों में ट्रांसफर तो नहीं की गई है? PMC मामले में दर्ज FIR के मुताबिक, ‘थॉमस (फार्मर एमडी जॉय थॉमस) सहित कई बैंकिंग एग्जिक्यूटिव्स की पूरी जानकारी में ऐसा किया था। इस तरह बैंक ने डिफॉल्टिंग बॉरोअर्स के असल लोन अकाउंट को छुपाया था, जो डिपॉजिटर्स के हितों के लिए नुकसानदेह था।

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

आरक्षण मामला - भूपेश सरकार को हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, आरक्षण पर लगी रोक ।

Fri Oct 4 , 2019
बिलासपुर– हाईकोर्ट ने आरक्षण मामले में सुनवाई करते हुए राज्य सरकार के आरक्षण के फैसले पर रोक लगा दी है। मामले में हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस की डिवीजन बेंच ने अपना फैसला सुरक्षित रखा था। कोर्ट ने मंगलवार को लगातार पांच घंटे सुनवाई की। सुनवाई के बाद कोर्ट ने फैसला […]

You May Like

Breaking News