एंटी करप्शन ब्यूरो की रेड… रिश्वत लेते RI और EE गिरफ्तार… पकड़ने में कामयाबी पर चालान पेश करने में करते है देरी… कई मामले आज भी है पेंडिंग…

एंटी करप्शन ब्यूरो की रेड… रिश्वत लेते RI और EE गिरफ्तार… पकड़ने में कामयाबी पर चालान पेश करने में करते है देरी… कई मामले आज भी है पेंडिंग

बिलासपुर, मई, 17/2024

एंटी करप्शन ब्यूरो ने प्रदेश में आज ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए 2 अधिकारियों को रिश्वत लेते रंगे हाथो गिरफ्तार कर उनसे लाखो रुपए जप्त किए है। एसीबी की टीम ने बिलासपुर में राजस्व विभाग के आरआई और कोंडागांव में जल संसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता को रिश्वत लेते पकड़ा है।

जानकारी मिली हैं की बिलासपुर के आरआई संतोष देवांगन ने जमीन के सीमांकन के लिए प्रार्थी से 2 लाख की रिश्वत मांगी थी लेकिन दोनो के बीच 1 लाख रुपए में सौदा तय हुआ था प्रार्थी ने इसकी सूचना ACB भी को दी जिसके बाद ACB ने तहसील कार्यालय से छापा मार कर आरआई को रंगे हाथों दबोच लिया है। और उसके पास से 1 लाख नगद जप्त भी कर लिए है मामले में अभी कार्रवाई जारी है जिसका पूरा सच कुछ देर बाद अधिकारी सामने रखेंगे । रिश्वतखोर राजस्व निरीक्षक संतोष देवांगन ने प्रार्थी से जमीन के काम के एवज में रुपए की मांग की थी। जिसे आज लेकर उसने तहसील कार्यालय में प्रार्थी को बुलाया था। प्रार्थी ने इसकी शिकायत एंटी करप्शन ब्यूरो से की थी। एंटी करप्शन ब्यूरो ने मामले की पुष्टि के बाद जाल बिछाकर तहसील कार्यालय में राजस्व निरीक्षक संतोष देवांगन को रंगे हाथ पकड़ा।

अभी तहसील कार्यालय के कमरे के अंदर प्रार्थी और एसीबी की टीम रिश्वतखोर आरआई को लेकर मौजूद है और दरवाजा बंद कार्यवाही कर रही है। बता दे की तहसील कार्यालय बिलासपुर में लेनदेन को लेकर हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस ने भी फटकार लगाई थी तो इस समय में कार्य नहीं होने पर रिश्वत की मांग के चलते घुमाए जाने को लेकर हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई थी। हाई कोर्ट की फटकार के बाद सभी लिपिकों व पटवारियों व आरआई का तबादला कर दिया गया था। फिर भी रिश्वतखोरी थमने का नाम नहीं ले रही है। आज हुई कार्यवाही के बाद यह स्पष्ट भी हो गया है।

बिलासपुर के अलावा ACB की टीम ने कोंडागांव में भी कार्रवाई की है जहां जल संसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता टीआर मेश्राम को उनके सरकारी आवास से दबोचा है। उनके पास से रिश्वत के 50 हजार रुपए भी जप्त किए गए है। ठेकेदार से बिल भुगतान के लिए 50 हजार की रिश्वत ले रहे थे। ठेकेदार की शिकायत पर एसीबी ने कार्यवाही की है।

कोंडागांव जिले में टीआर मेश्राम कार्यपालन अभियंता के पद पर पदस्थ हैं। उन्होंने ठेकेदार तुषार देवांगन से किए गए काम के एवज में बिल भुगतान के लिए रिश्वत मांगी थी। जिसकी शिकायत उन्होंने एंटी करप्शन ब्यूरो से की थी एंटी करप्शन ब्यूरो ने मामले की पुष्टि के बाद आज सुनियोजित कार्रवाई के साथ जल संसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता के घर रेड मारी। इस दौरान कार्यपालन अभियंता को शासकीय निवास में ठेकेदार से रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया। एसीबी की कार्यवाही अब भी जारी है।

चालान में पेश करने में होती है देरी…

ACB की टीम शिकायत पर रिश्वतखोरो पर ताबड़तोड़ कार्यवाइ तो जरूर करती है लेकिन कार्रवाई के बाद चालान पेश करने में अक्सर लेट लतीफी करती है, ऐसे कई मामले है जो अभी तक पेंडिंग है। कई मामलों में सालो तक चालान पेश नहीं किया जाता। वही चालान न पेश करने के सवाल पर अधिकारी चुप्पी साध मीडिया के सवालों से बचते नजर आते है ।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

बस स्टैंड व्यापारियों को लेकर पूर्व विधायक पांडेय कमिश्नर और कलेक्टर से मिले, प्रशासन ने व्यापारियों को दिया आश्वासन...  बीजेपी सरकार का बुलडोज़र केवल ग़रीबों के ऊपर ही चलता है : शैलेश पांडेय

Sun May 19 , 2024
बस स्टैंड व्यापारियों को लेकर पूर्व विधायक पांडेय कमिश्नर और कलेक्टर से मिले, प्रशासन ने व्यापारियों को दिया आश्वासन… बीजेपी सरकार का बुलडोज़र केवल ग़रीबों के ऊपर ही चलता है : शैलेश पांडेय न्यायालय के निर्देश का पूर्ण पालन करे प्रशासन : शैलेश पांडेय बिलासपुर, मई 19/2024 बिलासपुर में पुराना […]

You May Like

Breaking News