एस. आर. हॉस्पिटल को मिली पैरामेडिकल पाठ्यक्रम संचालन की अनुमति… संभाग के युवा आसानी से बन सकेंगे पैरामेडिकल टेक्नीशियन…

एस. आर. हॉस्पिटल को मिली पैरामेडिकल पाठ्यक्रम संचालन की अनुमति… संभाग के युवा आसानी से बन सकेंगे पैरामेडिकल टेक्नीशियन…

बिलासपुर, जनवरी, 11/2023

एसआर हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेन्टर चिखली पोस्ट- जेवरा सिरसा, धमधा रोड़ दुर्ग को छग शासन के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग के अधीनस्थ छग पैरामेडिकल काउन्सिल द्वारा पैरामेडिकल पाठयकम संचालन की अनुमति दी गई है। छत्तीसगढ शासन द्वारा पैरामेडिकल टेक्नीशियन कोर्स संचालन करने अनापत्ति देने के बाद छग पैरामेडिकल काउन्सिल द्वारा एस.आर. हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेन्टर को पैरामेडिकल टेक्नीशियन कोर्स संचालन करने की अनुमति दी गई है। गुरुवार को बिलासपुर प्रेस क्लब में पत्रकारों से चर्चा करते हुए अस्पताल के मेडिकल सुप्रीटेन्डेन्ट व वरिष्ठ चिकित्सक डॉ एस.पी. केसरवानी ने बताया कि शासन के पैरामेडिकल काउन्सिल द्वारा एस.आर. हॉस्पिटल को एक्स रे टेक्निशियन, ऑपरेशन थयेटर टेक्निशियन व पैथालॉजी लैब टेक्निशियन, कोर्स में प्रशिक्षण प्रदान करने की अनुमति दी गई है। जिसमें एक्सरे टेक्निशियन की 30 सीटे व आपरेशन थयेटर टेक्निशियन की 30 सीटे एवं पैथालॉजी लैब टेक्निशियन की 20 सीटे है।

दुर्ग संभाग में एस.आर. हॉस्पिटल में सर्वाधिक पैरामेडिकल टेक्निशियन कार्स की कुल 80 सीटे है। छ.ग. शासन का यह एक वर्षीय सर्टीफिकेट कोर्स है। जिसका पंजीयन छ.ग. पैरामेडिकल काउन्सिल में होता है। उक्त पैरामेडिकल टेक्निशियन कोर्स में 10+2 पैटर्न में बारहवी या समकक्ष बायोलॉजी ग्रुप (फिजिक्स, केमेस्ट्री एवं बायोलॉजी) के छात्र एवं छात्राएं ही प्रवेश ले सकते है। अन्य विषय के छात्र व छात्राओं का प्रवेश निषेध है।

पैरामेडिकल टेक्निशियन के सभी कोर्स हेतु प्रवेश प्रांरभ है। जिसकी सीमित सीटें बची है। पैरामेडिकल टेक्निशियन कोर्स में प्रवेश लेने 10वी एवं 12 वी व स्थानातरण प्रमाण पत्र व चरित्र प्रमाण पत्र एवं अन्य दस्तावेजो की आवश्कता होगी। अस्पताल में गर्ल्स व बॉयज हॉस्टल व मेस (केन्टीन) की सुविधा उपलब्ध है।

पैरामेडिकल पाठ्यक्रम पूर्ण होने के पश्चात सरकारी अस्पताल व देश के प्रतिष्ठित निजी अस्पतालो में मरीजो की सेवा करने का अवसर निश्चित रूप से मिलता है। शासकीय व निजी क्षेत्र में रेडियोलाजी विभाग में एक्स रे टेक्निशियन एवं आपरेशन थयेटर टेक्निशियन की मांग सर्वाधिक है। कोर्स पूर्ण होने के बाद एस.आर. हॉस्पिटल द्वारा जॉब प्लेसमेन्ट की सुविधा भी उपलब्ध है संस्थान में सेन्ट्रल लाइब्रेरी व डिजीटल लाईब्रेरी की सुविधा भी उपलब्ध
है।

एस.आर. हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेन्टर 180 बिस्तरो का दुर्ग जिले का सबसे बडा सुपर मल्टीस्पेशलिटी प्रायवेट अस्पताल है। अस्पताल को आयुष्मान भारत, भारतीय रेलवे, ई.एस. आई.सी., सी.जी.एच.एस., सी.एस.पी.डी.सी.एल. व सभी टी०पी०ए०/ इंश्योरेन्स एवं सभी शासकीय कर्मचारियों व उनके परिवार के सदस्यो के ईलाज हेतु मान्यता प्राप्त है। उक्त अस्पताल क्षेत्र का सर्वश्रेष्ठ ट्रामा सेन्टर होने के कारण अस्पताल में गंभीर मरीज उपचार व ऑपरेशन हेतु निरन्तर भर्ती होते है। अस्पताल में आई.सी.यु./एन.आई.सी.यु. / केजवल्टी/माडलर ओ.टी. व अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध है।

अस्पताल के मेडिकल सुप्रीटेन्डेन्ट व वरिष्ठ चिकित्सक डॉ एस.पी. केसरवानी ने जानकारी देते हुए बताया कि सभी छात्र व छात्राओं को अनुभवी डॉक्टर व सिनियर टीचरो की टीम के द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। स्वंय के 180 बिस्तरों के अस्पताल में प्रेक्टीकल कराया जाएगा। अस्पताल में छात्र व छात्राओ के इर्न्टनशीप की सुविधा भी उपलब्ध है।

अस्पताल के चेयरमेन संजय तिवारी ने क्षेत्र की जनता से अपील की है कि मेडीकल के क्षेत्र में केरियर बनाने का एक सुनहरा अवसर है जिसका लाभ आप स्वंय ले सकते है या अपने बच्चो को पैरामेडिकल कोर्स करवा सकते है या अपने रिश्तेदार, मित्र चिर-परिचित का मेडिकल फिल्ड में कैरीयर बनाने में सहयोग कर सकते है। छ.ग. शासन के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग द्वारा निकाली गई भर्ती में छ.ग. पैरामेडिकल काउन्सिल में रजिस्ट्रेशन होना आवश्यक है। उक्त कोर्स ही छ.ग. शासन का एक मात्र कोर्स है जिसका रजिस्ट्रेशन छ.ग. पैरामेडिकल काउन्सिल में होता है। यह भी बताया गया कि वैश्विक महामारी कोविड के संकमंण काल में पुरे विश्व में डॉक्टरो, नर्सों, पैरामेडिकल टेक्निशियन व अस्पताल की टीम ने अपनी जान की परवाह न करते हुए मानव सेवा की है। सेवाभाव का क्षेत्र होन के कारण अत्यन्त ही सम्मानजनक कार्य है। जिसके कारण अस्पताल के सभी स्टाफ को समाज में देवदुत जैसे सम्मानजनक शब्दो से भी सम्बोधन किया जाता है।

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

<em><mark class="has-inline-color has-vivid-red-color">अवैध रेत उत्खनन एवं परिवहन पर खनिज विभाग की कार्यवाई… पोकलेन मशीन और हाईवा जप्त…</mark></em>

Thu Jan 11 , 2024
अवैध रेत उत्खनन एवं परिवहन पर खनिज विभाग की कार्यवाई… पोकलेन मशीन और हाईवा जप्त… बिलासपुर, जनवरी, 11/2023 खनिज अमला बिलासपुर द्वारा खनिजों के अवैध उत्खनन एवं परिवहन पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। विभिन्न माध्यमों से शिकायत / सूचना प्राप्त होने पर बुधावर को खनिजों के अवैध उत्खनन […]

You May Like

Breaking News