टेंडर विवाद : विधायक के भाई पर बिजली ठेकेदार ने साथियों के साथ किया हमला…

टेंडर विवाद : विधायक के भाई पर बिजली ठेकेदार ने साथियों के साथ किया हमला…

बिलासपुर, सितंबर, 02/2022

शहर हो या गाँव अब अपराधियों और रसूखदार लोगो के बीच पुलिस का कोई खौफ नही रहा, सरेराह गैंगवार करना लोगो को धमकाना, मारना, छोटी छोटी बातों में चाकूबाजी करने जैसी घटना अब आम हो चुकी है। पुलिस भी ऐसी घटनाओं को रोकने में नाकाम साबित हो रही है। शहर में अपराधी राजनैतिक संरक्षण में खुलेआम गुंडागर्दी कर रहे है। पुलिस भी ऐसे मामलों मामूली धारा लगा के खानापूर्ति कर रही है, जिससे आरोपी आसानी से छूट जाते है फिर इनके हौंसले बुलंद हो जाते है। पुलिस के बड़े अधिकारी सिर्फ मीटिंग लेके अपराध रोकने की बात करते है पर थाने और जमीनी स्तर पर ऐसा कुछ नजर नही आता घटना के बाद मीडिया में खबरे चलने के बाद पुलिस हरकत में तो आती है लेकिन उस मे भी कार्यवाई महज खानापूर्ति की होती है। बड़े अधिकारियों को थाने स्तर पर कसावट लाने की जरुरत है।

गैंगवार तो अब कही भी कभी भी होने लगा है,इसका मुख्य कारण एक दूसरे को नीचा दिखाना रहता है और ठेकेदारी के अलावा बिजनेस में ज्यादा फायदा लेना रहता है,और खास ठेकेदारी की बात करे तो फिर इसमें कुछ ज्यादा ही विवाद होते रहता है,और इसी वजह से ख़बरे भी सुर्खियों में बनी रहती है,दरसल तिफरा के बिजली ऑफिस में गुरुवार को टैंडर डालने के नाम पर भाटापारा विधायक प्रमोद शर्मा के रिश्तेदार भाई के साथ मारपीट की गई। शहर के बदमाशों ने उसे इतनी बुरी तरह पीटा कि जिला अस्पताल में इलाज होने के बाद उसे सिम्स रेफर करना पड़ा। वही इस मामले में सिरगिट्टी पुलिस ने सामान्य धाराओं के तहत कार्रवाई की है।

आपको बता दे करबला के गीतांजलि नगर में रहने वाले राकेश मिश्रा पेशे से ठेकेदार है। गुरुवार को अपने दोस्तों के साथ तिफरा के सीएसईबी ऑफिस में टेंडर डालने पहुंचा था। वे टेंडर डालकर अपनी कार से निकल रहा था उसी समय उससे अभिनव शर्मा और उसके साथियो ने मारपीट की,आपको बता दे ठेकेदार अभिनव शर्मा इसके पहले भी कुदुदंड के बिजली ठेकेदार पुष्पराज शुक्ला के साथ अप्रैल महीने में मारपीट किया था ,तब सरकंडा थाना में जुर्म दर्ज किया गया था।

टेंडर नहीं मिलने से नाराज होकर मारपीट जैसी हरकत करना और रास्ता रोककर धमकाना इसकी आदत बन चुकी है,जिसकी वजह से ठेकेदारों में गुटबाजी होने लगी है,और इसी वजह से ठेकेदारों का आपसी विवाद होने लगा है,जबकि ठेकेदारों का कहना है की टेंडर हर कोई भरता है जिसको मिल जाये वह अपना काम करता है.लेकिन इस तरह की हरकत होगी तो आने वाले दिनों में सबको दिक्क्त होगी और ठेकेदारों के बीच विवाद बढ़ेगा,इससे माहौल भी ख़राब होगा.वही मारपीट से घायल राकेश मिश्रा जो पेशे से ठेकेदार है उन्होंने बताया की पुलिस ने भी इसमें सिर्फ खानापूर्ति की है.बल्कि अब मुझे जान का ख़तरा बना हुआ है.वही मारपीट से घायल ठेकेदार ने कहा है की बाहरी लोगो का ऑफिस में क्या काम और इस तरह की हरकत करने वालो का रजिस्ट्रेशन केंसिल होना चाहिए.ताकि भविष्य में कोई भी ठेकेदार ऐसी हरकत न कर सके.और लोग शांति से टेंडर भर सके।

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

ब्रेकिंग : 12 दिनों से चल रही कर्मचारियों की हड़ताल खत्म... मंत्री रविन्द्र चौबे से चर्चा के बाद फेडरेशन ने लिया फैसला...

Fri Sep 2 , 2022
ब्रेकिंग : 12 दिनों से चल रही कर्मचारियों की हड़ताल खत्म… मंत्री रविन्द्र चौबे से चर्चा के बाद फेडरेशन ने लिया फैसला… छत्तीसगढ़, सितंबर, 02/2022 प्रदेश में पिछले 12 दिनों से चल रही कर्मचारियों की दो सूत्रीय मांगों को लेकर कर रहे हड़ताल आज समाप्त हो गयी है। सोमवार से […]

You May Like

Breaking News