बीजेपी की हुंकार रैली से मिली शहरवासियों को परेशानी… कही एम्बुलेंस फंसने से बच्चे की जान आफत में तो कही रैली में शामिल अपना दर्द बयां करती भूखी प्यासी माताएं बहनें…. (देखिये VIDEO)

बीजेपी की हुंकार रैली से मिली शहरवासियों को परेशानी… कही एम्बुलेंस फंसने से बच्चे की जान आफत में तो कही रैली में शामिल अपना दर्द बयां करती भूखी प्यासी माताएं बहनें…. (देखिये VIDEO)

बिलासपुर, नवंबर, 12/2022

बिलासपुर में आयोजित बीजेपी की हुंकार रैली में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी शामिल होने पहुंची थी रैली में महिलाओं की भीड़ हजारों की संख्या में थी जिससे जहां जहां रैली निकली उस रास्ते पर पूरा जाम लग गया इस जाम तो वहीं उसी सड़क पर एक एंबुलेंस फंस गई जिससे एक बच्चे की जान आफत में आ गई। उस मासूम को सिम्स अस्पताल से निजी अस्पताल के लिए एम्बुलेंस जा रही थी लेकिन रैली में भीड़ अधिक होने के कारण करीब आधे घण्टे से भी ज्यादा समय तक एम्बुलेंस रैली के काफिले में फसी रही। चूंकि उस पॉइंट पर ट्रैफिक के जवान थे वे एंबुलेंस को निकलने की पूरी कोशिश करते रहे पर लेकिन सड़क भीड़ ज्यादा होने के कारण और जगह नहीं मिलने से एंबुलेंस आधे घंटे से अधिक समय फंसी रही जिससे बच्चे की जान जोखिम में रही।

एम्बुलेंस में फंसने के साथ ही एक और दर्द भरा नजारा रैली में देखने को मिला जहां भाजपा ने रैली में भीड़ बढ़ाने के लिए गांव गांव से महिलाओं को गाड़ियों में भर कर लाया गया था इस रैली में भाजपा की महतारी हुंकार रैली माताओं के लिए महतारी सताओ रैली साबित हुई जिसमे ग्राम लोरसी से रैली में शामिल होने लाई गई दर्जनों महिलाये भूख प्यास से तड़पती रही। इन महिलाओ ने जब मीडिया ने बात की तो उन्होंने अपने दर्द कैमरे में बयां किया लेकिन महिलाओं की सुध किसी ने नहीं ली सारे नेता मंच पर भीड़ देख कर खुश होते रहे पर धूप में भूख से तड़पती महिलाओं को लेकर आने वाले नेता उन्हे ऐसे भी भीड़ में छोड़ दिया गया उन पर किसी की नजर नहीं पड़ी।

इस मामले में शहर विधायक शैलेष पांडे ने कहा की भारतीय जनता पार्टी ने धारावाहिक में काम करने वाली स्मृति ईरानी को बिलासपुर में केवल अपने प्रचार प्रसार के लिए लाया गया था। उनको छत्तीसगढ़ की भोली भाली जनता से कोई लेना-देना नहीं है। हुकार रैली में सिर्फ भीड़ बढ़ाने के उद्देश्य से दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों से लोगों को लाया गया। जिनको न जाने क्या-क्या झूठा वादा और लालच में लाया गया। पूरे बिलासपुर शहर भर में भूखी प्यासी माताएं और बहनें पानी और भोजन की तलाश में भटकती रही। जिनकी सुध किसी ने भी नहीं ली। महतारी हुकार रैली में माताओं और बहनों का ऐसा अपमान किया गया और यह बड़े ही शर्म की बात है। जनता भी इनकी झूठे और नौटंकी वाले इस व्यवहार को समझ रही है। स्मृति ईरानी का नाटक tv में ही अच्छा लगता है। नसबंदी और गर्भाशय काण्ड पर आज भाजपा चुप क्यों थी।


भाजपा की हुंकार रैली में ये दो तस्वीरे रैली का सच बयां कर रही है जिससे समझ आता हैं की नेताओं को आम जनता की तकलीफों से कोई लेना देना नही होता इन्हे तो बस राजनीति करने के अलावा रैलियों के लिए भीड़ इक्कठी कर अपने ऊपर बैठे आकाओं को खुश करना ही मकसद होता हैं। जनता की परेशानी और भीड़ इकट्ठी करने लाई गई माताएं बहनें की भूख से इन्हे कोई सरोकार नहीं होता। लेकिन मंच पर बैठे नेता सिर्फ राज्य सरकार को कोसते रहे पर महंगाई और भाजपा शासित राज्यों में हो रहे भ्रष्टाचार और बढ़ते अपराध पर चुप्पी साध रखे थे। बिलासपुर पहुंची केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी तो मीडिया से बात से कतराती रही।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

श्रीकांत वर्मा मार्ग में बनेगी आरसीसी नाली, दो फीट तक चौड़ी हो जाएगी सड़क...  महापौर रामशरण व सभापति नजीरुद्दीन ने किया भूमिपूजन...

Sat Nov 12 , 2022
श्रीकांत वर्मा मार्ग में बनेगी आरसीसी नाली, दो फीट तक चौड़ी हो जाएगी सड़क… महापौर रामशरण व सभापति नजीरुद्दीन ने किया भूमिपूजन… बिलासपुर, नवंबर, 12/2022 श्रीकांत वर्मा मार्ग में कट बोल्ट नाली की जगह 34 लाख रुपए की लागत से आरसीसी नाली बनाई जाएगी। इसके बनते ही सड़क करीब 2 […]

You May Like

Breaking News