मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कवच मोबाइल एप का किया शुभारंभ … कोविड-19 से संबंधित जानकारी अब सिर्फ एक क्लिक पर ….

कोरोना से संबंधित शासकीय परामर्श, आदेश और जानकारियां तत्काल लोगों तक पहुंचने में मिलेगी मदद ….

एप में कोविड-19 ई-पास के लिए आवेदन की सुविधा ….

राज्य के संदिग्ध और पुष्टिवाले कोरोना मामलों की जानकारी रियल टाइम पर डैश बोर्ड में होगी उपलब्ध ….

रायपुर // मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को अपने निवास कार्यालय में कोरोना से संबंधित शासकीय परामर्श, आदेश और जानकारियों को तत्काल आम नागरिकों तक पहुंचाने के लिए विकसित कवच मोबाइल एप का शुभारंभ किया। छत्तीसगढ़ शासन के स्वास्थ्य विभाग एवं चिप्स के द्वारा इस मोबाइल एप को बनाया गया है। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा डॉ. आलोक शुक्ला, सचिव स्वास्थ्य श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ और चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी समीर बिश्नोई मौजूद थे।

कोरोना से संबंधित शासकीय परामर्श, आदेश और जानकारियों को तत्काल आम नागरिकों तक पहुंचाने के लिए कवच मोबाइल एप विकसित किया गया है। इस एप में राज्य के संदिग्ध और पुष्टिवाले कोरोना मामलों की जानकारी रियल टाइम पर डैश बोर्ड के माध्यम से आम जनता के लिए उपलब्ध रहेगी। इस एप में कोविड-19 ई-पास के लिए आवेदन करने की सुविधा भी है। एप्प से प्रदेशवासियों को अस्पताल और नोडल अधिकारियों का विवरण मिलेगा, साथ ही नागरिकों को उनके निवास के निकटतम अस्पताल की जानकारी मिलेगी, जहां मरीज किसी भी लक्षण की दशा में पहुंच सकते हैं।
कोरोना जागरूकता के लिए विकसित कवच एप की प्रमुख विशेषताओं में छत्तीसगढ़, भारत और वैश्विक आंकड़े के वास्तविक समय का डैश बोर्ड और छत्तीसगढ़ में कोरोना अस्पतालों की जानकारी शामिल है। इसमें कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए आपातकालीन राहत कोष में दान करने की सुविधा, कोविड-19 से संबंधित शासकीय आदेश और कोरोना के लक्षणों की जांच और त्वरित स्व-जांच की जानकारी भी आसानी से मिल जाएगी। साथ ही कफ्र्यू पास, कोरोना के प्रति जागरूकता, यात्रा निर्देश, रोकथाम उत्पाद की जानकारी और फेक न्यूज की जानकारी भी मिलेगी।
यह एप लोगों को समय-समय पर लक्षणों की जांच करने के लिए उपाय बतायेगा और कोरोना लक्षण पाए जाने की दशा में लोगों को शासन द्वारा दी गई सलाह का पालन करने के लिए सूचित करेगा। आम लोगों तक सही और सटीक जानकारी पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया पर फर्जी खबरों और संदेशों वाले फेक न्यूज का विवरण भी इस एप में दिया जा रहा है। साथ ही लोगों को आपातकाल में यात्रा पर जाने की दशा में पालन किए जाने वाले सभी आवश्यक यात्रा निर्देश भी बताये गये हैं, आवश्यक सामग्रियों की होम डिलीवरी सुविधा भी एप में उपलब्ध है।
आम नागरिक जो इस महामारी की विपरीत परिस्थितियों में स्वयं सेवक बनकर समाज की सेवा करना कहते हैं, वे भी इस एप से आवेदन भी कर सकते हैं। स्वास्थ्य निदेशालय द्वारा निवारण उपायों में उपयोग किए जाने वाले उत्पादों से संबंधित जानकारी इस एप के माध्यम से उपलब्ध कराई गई है। यह एप लोकेशन और तस्वीरों के साथ भीड़-भाड़ की शिकायत करने की सुविधा भी प्रदान करता है। इस एप का उपयोग करने वाले निवासियों को समय-समय पर सरकार द्वारा नियमित अपडेट और निर्देश भी दिए जाएंगे।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

रोजगार के साथ जल संरक्षण को भी अब बढ़ावा देने की पहल ... कार्यस्थल पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हैण्डवॉश की सुविधा ...

Tue Apr 28 , 2020
बिलासपुर // गांवों में भी अब जल संरक्षण के प्रति लोगों में जागरूकता आने लगी है। लोगों की निस्तारी के साथ ही पशु-पक्षियों, खेती-किसानी और हरियाली के लिये पानी जरूरी है। गांवों में तालाब निर्माण, गहरीकरण और अन्य जल स्त्रोतों के संरक्षण के लिये कार्य किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ […]

You May Like

Breaking News