नेता प्रतिपक्ष धरमलाल के बयान पर कांग्रेस का पलटवार, कहा सत्ता से महरूम भाजपा नेता 11 महीने में ही खोते जा रहे संतुलन ,कपास और दही में नही दिख रहा अंतर …

बिलासपुर // नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक के ” विकास कार्य ठप ” वाले बयान पर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा की सत्ता से महरूम भाजपा के नेता 11 माह में ही सन्तुलन खोते नजर आ रहे है , कपास और दही में अंतर नही कर पा रहे है ।

प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने कहा की भाजपा के 15 वर्ष बनाम कांग्रेस के 11 माह की तुलना करें तो भी 11 माह के विकास ,15 वर्ष के वादे,योजनाओ और आत्म संस्तुति से कहीं ज्यादा है ,भाजपा के रमन सिंह सरकार ने विकास कागज में की और भ्रष्टाचार जमीन पर जिसे छत्तीसगढ़ की जनता जान और समझ चुकी थी ।

अटल श्रीवास्तव ने आगे कहा की भूपेश सरकार ने 11 माह में बड़े बड़े निर्णय,योजना और जनहित के लिए काम किये । ग्रामीण व्यवस्था,छत्तीसगढ़ी संस्कृति,तीज त्योहारो को पुनर्स्थापित करने के लिए योजना लागू किये,कृषि और कृषको को मजबूत करने के लिए समर्थन मूल्य 2500,ऋणमाफी,वन अधिकार पट्टा, राशन कार्ड दोनों प्रकार के बनाये,बिजली बिल हॉफ़,5 डिसमिल जमीन की रजिस्ट्री,वन उत्पादों के लिए उचित मूल्य और बाजार मुहैया कराया गया है,हॉट बाजार , मुख्यमंत्री सुपोषण योजना,स्लम स्वास्थ्य योजना जैसे अनेक योजनाएं लागू कर सफलता पूर्वक संचालित है ।
उन्होंने कहा धरमलाल कौशिक नॉन घोटाले को अपनी सफल योजना मान रहे तभी नान घोटाले की जांच को बाधित करने के लिए माननीय न्यायालय के शरण मे है , 4601 करोड़ का चिप्स घोटाला,सीवरेज घोटाला,विधि अकादमी घोटाला,स्काई वॉक घोटाला,डी के हॉस्पिटल घोटाला, प्रियदर्शनी बैंक घोटाला जिसके अभियुक्त की नार्को रिपोर्ट के बयान को उजागर क्यो नही किया ? भाजपा काम करती तो किसान आत्महत्या नही करते ,हड़ताली शिक्षाकर्मियों को जेल में नही डाला जाता ,भाजपा ने जितनी भी योजना बनाई उसके स्टीमेट में भ्रष्टाचार को केंद्र बिंदु मानकर बनाई गई ,छत्तीसगढ़ को 15 वर्ष के भ्रष्टाचार,बेरोजगारी,भय युक्त व्यवस्था से मुक्ति मिली है ।
उन्होने प्रतिप्रश्न करते हुए कहा कि भाजपा सरकार 15 वर्ष में छत्तीसगढ़ को विकास के शिखर पर ले गई तो फिर भाजपा 15 सीट में सिमट कर क्यो रह गई है? क्या भ्रष्टाचार के कारण है या राज्य में आमजनों का जीना दुश्वार करने के लिए है? गांव से लोग पलायन करने लगे,गरीब और गरीब हो गए यही कारण है कि छत्तीसगढ़ में एकाएक गरीबो की संख्या जम्प कर गई,किसान आत्महत्या करने लगे थे,युवाओ में बेरोजगारी बढ़ने लगी ,महिलाओं के साथ अभद्रता होने लगा था,कुल मिलाकर पूरा छत्तीसगढ़ की जनता भाजपा के तानाशाह रवैया से निजात पाना चाहती है और उसने अपने आक्रोश को मतपेटी के माध्यम से व्यक्त की और भाजपा का प्रसार उसकी निजता तक सिमटकर रह गई ।।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

गोवर्धन पूजा के दिन मनेगा गौठान दिवस ,नए गौठानों का होगा भूमिपूजन, वही 15 नवंबर से होगी धान की ख़रीदी ...

Tue Oct 22 , 2019
बिलासपुर // गोवर्धन पूजा के दिन जिले में गौठान दिवस मनाया जायेगा और नये गौठानों का भूमिपूजन किया जायेगा। नये गौठानों एवं चारागाहों के लिये भूमि का चिन्हांकन करने हेतु आज टीएल की बैठक में निर्देश दिया गया। मंथन सभाकक्ष में आयोजित टीएल की बैठक में कलेक्टर डॉ.संजय अलंग ने […]

You May Like

Breaking News