• Sun. Jul 21st, 2024

News look.in

नज़र हर खबर पर

ब्रेकिंग : राजस्थान कोटा में फंसे छत्तीसगढ़ के ढाई हजार से अधिक बच्चों की जल्द होगी घर वापसी … भूपेश सरकार ने बस भेजने का लिया फैसला … 4 दिनों पहले रसूखदारों के बच्चों की वापसी के बाद सरकार पर था दवाव …

रायपुर // कोरोना संक्रमण महामारी से निपटने पूरे देश मे लॉक डाउन किया गया है ऐसे में वो लोग जो अपने घरों से दूर दूसरे राज्यो में पढ़ने या रोजीरोटी के लिए गए है वे सभी फंसे हुए है , ऐसे ही राजस्थान के कोटा में फंसे छत्तीसगढ़ के करीब ढाई हजार से ज्यादा छात्र – छात्राएं भी फांसी हुई है, जो अपने घर वापस आना चाहते है उन सभी के लिए राहतभरी खबर सामने आई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया है कि राजस्थान के कोटा में फंसे बच्चों को वापस लाने के लिए बस भेजी जा रही है, उन्हें जल्द ही छत्तीसगढ़ वापस लाया आया जाएगा।

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद कोटा राजस्थान में फंसे बच्चों को छत्तीसगढ़ वापस लाने शासन ने 75 बसें रवाना की है इन बसों में डॉक्टरों की एक टीम भी साथ जा रही है। अब कोटा में फंसे बच्चे जल्द ही अपने परिजनों से मिल पाएंगे। बतादें की छत्तीसगढ़ से कोटा राजस्थान में पढ़ने गए छात्र छात्राएं लॉकडाउन के कारण कई दिनों से फंसे हुए है, इन बच्चों ने प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल को ट्वीट कर घर वापसी की गुहार लगाई थी वही बिलासपुर विधायक पांडेय ने भी बच्चों के परिजनों से लगातार संपर्क में थे।

बतादें की 4 दिनों पहले कुछ रसूखदारों के बच्चों को गुपचुप तरीके से कोटा से छत्तीसगढ़ लाया गया था जिन्हे पहले 8 दिनों तक पेंड्रा में फिर बिलासपुर के एक होटल और छतीसगढ़ भवन में क्वारेंटाइन किया गया है, वही एसईसीएल अधिकारियों ने भी अपने बच्चों को वापस लाया पर शासन ने उन्हें म.प्र. बार्डर पर ही रोक दिया । जिसके बाद अधिकारियों ने उन्हें शहडोल स्थित एसईसीएल के गेस्ट हाउस में रुकवाया है । ऐसे में रसूखदारों के इन बच्चों की वापसी के बाद प्रदेश के करीब ढाई हजार बच्चो के परिजनों ने नेताओं और सरकार पर उनके बच्चों को भी वापस लाने का दबाव बनाया था जिसके बाद शासन हरकत में आया और उन्हें वापस लाने की योजना तैयार कि गयी।

Related Post

6 ईई निलंबित, 4 को कारण बताओ नोटिस… सीएम के निर्देश पर बड़ी कार्रवाई… जल जीवन मिशन महत्वाकांक्षी योजना पर लापरवाही…
पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विश्वविद्यालय के छठवें दीक्षांत समारोह में शामिल हुए राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन एवं मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय…  विद्यार्थियों को मिले स्वर्ण पदक एवं उपाधियां…
डिप्टी सीएम साव मिले नगरीय निकायों के कार्यों में तेजी लाने केंद्रीय आवासन और शहर कार्य मंत्री मनोहर लाल खट्टर से की मुलाकात…. ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए 516 करोड़ और वेस्ट-टू-इलेक्ट्रिसिटी प्लांट के लिए 400 करोड़ की स्वीकृति का किया अनुरोध…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *