लेफ्टिनेंट कर्नल ज्योति शर्मा बनी भारतीय सेना की पहली महिला न्यायाधीश एडवोकेट जनरल अधिकारी ।

नई दिल्ली // भारतीय सेना ने पहली बार एक महिला न्यायाधीश की नियुक्ति की है। लेफ्टिनेंट कर्नल ज्योति शर्मा को भारतीय सेना की महिला न्यायाधीश एडवोकेट जनरल अधिकारी के रूप में नियुक्ति दी गयी है। वह सैन्य कानूनी विशेषज्ञ के रूप में पूर्वी अफ्रीकी देश सेशेल्स की सरकार को अपनी सेवाएं देंगी।
यह पहला मौका है जब भारतीय सेना में किसी महिला न्यायाधीश को नियुक्त किया गया है। यह एक ऐतिहासिक क्षण है क्योंकि इससे पहले किसी भी महिला को न्यायाधीश के तौर पर भारतीय सेना में नियुक्त नहीं किया गया था। ज्योति शर्मा विदेश से जुडे मामले देखेंगी।

गौरतलब है कि भारत में न्यायाधीश एडवोकेट जनरल अधिकारी का पद सेना के लेफ्टिनेंट को दिया जाता है। ये सेना का न्यायिक प्रमुख होते हैं। भारतीय सेना की न्यायाधीश एडवोकेट जनरल एक अलग शाखा है। इसमें कानूनी रूप से योग्य सेना के अधिकारी शामिल होते है। गौरतलब है कि एडवोकेट जनरल अधिकारी सभी तरह से सेना को कानूनी मदद देते हैं।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

राज्यपाल अनुसुईया उईके शनिवार को रहेंगी बिलासपुर जिले में

Fri Nov 15 , 2019
राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उईके का दौरा कार्यक्रम बिलासपुर // राज्यपाल अनुसुईया उईके शनिवार 16 नवंबर को बिलासपुर जिले के दौरे पर रहेंगी। राज्यपाल प्रातः 11.10 बजे पुलिस परेड ग्राउण्ड हेलीपेड रायपुर से शासकीय हेलीकाप्टर से प्रस्थान कर प्रातः 11.50 बजे फिजिकल कॉलेज ग्राउण्ड हेलीपेड पेण्ड्रा पहुंचेंगी। वहां से सड़क मार्ग […]

You May Like

Breaking News