• Sun. Jul 21st, 2024

News look.in

नज़र हर खबर पर

सुबह से शहर की शराब दुकानों से बिकती रही शराब ,, बिलासपुर में ये कैसा लॉकडाउन, शहर समेत पूरे जिले में सारी दुकानें और व्यावसायिक गतिविधियां बंद और शराब भट्टी खुली ,,

बिलासपुर जिले में ये कैसा लॉकडाउन है , जहाँ शहर समेत पूरे जिले में सारी दुकानें और व्यावसायिक गतिविधियां बंद है पर भट्टी खुली खोल कर रखी गयी है ।

शनिवार की सुबह से शहर की शराब दुकानों से शराब बेची जा रही है ।

बिलासपुर (शशि कोन्हेर) // आज शनिवार और कल रविवार को स्थानीय जिला और पुलिस प्रशासन ने बिलासपुर जिले में 2 दिन का संपूर्ण लॉकडाउन घोषित किया है। जिला और पुलिस प्रशासन की घोषणा के अनुसार इस लॉकडाउन के दौरान सब्जी बाजार डेयरी, को सुबह केवल 12 बजे तक की अनुमति दी गई। जबकि सारी दुकाने बाजार और तमाम तरह की व्यवसायिक गतिविधियों पर शनिवार और रविवार को 2 दिनों के लिए पूर्णत: रोक लगा दी गई है। लेकिन आश्चर्य और शर्म की बात यह है कि इस लाक डाउन में शराब की दुकानों को आश्चर्यजनक रूप से खुला रखा गया है।

” चांटीडीह की शराब दुकान शनिवार को लॉक डाउन के बावजूद खुली रही और सुबह से ही लोग शराब खरीदते रहे ”

जहां सुबह से बिलासपुर की देसी विदेशी सभी अंग्रेजी शराब दुकानों से बकायदा शराब बिक रही है।। शराब दुकानें लॉकडाउन के बावजूद खुली रहने को लोग बेहद शर्मनाक बता रहे थे। और उनका कहना था कि वैसे भी बिलासपुर में लॉकडाउन सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने के नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। ऐसे में एक तो कल शुक्रवार की रात तक और आज सुबह तक लाक डाउन को लेकर भ्रम की स्थिति बनी रही। और आज सुबह से 2 दिनों के लिए बिलासपुर शहर सहित जिले में कप्लीट लॉक डाउन बताया गया। मगर बिलासपुर शहर सहित जिलेभर की सभी शराब दुकानों को लाकडाउन से मुक्त रखा गया है। अब प्रशासन ने लाकडाउन में भी शराब की दुकानें खुली रखने और शराब की बिक्री जारी रखने का निर्णय शराब प्रेमियों की तड़प को देखते हुए किया है..? या फिर सरकारी खजाने में शराब से हो रही आवक को जारी रखने की मजबूरी में किया गया है..यह सरकार जाने…! बात चाहे जो हो मगर आज सुबह से लॉकडाउन के बावजूद बिलासपुर में शराब दुकानों के खुले होने और शराब बिक्री को लॉक डाउन से छूट मिलने को लेकर लोग खूब चटखारे ले लेकर जमकर चर्चा करते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *