छत्तीसगढ़ : सीएम की उपसचिव सौम्या ईडी की गिरफ्त में… 4 दिनों की मिली रिमांड… राजनीतिक गलियारों में मचा हड़कंप… 

छत्तीसगढ़ : सीएम की उपसचिव सौम्या ईडी की गिरफ्त में… 4 दिनों की मिली रिमांड… राजनीतिक गलियारों में मचा हड़कंप…

रायपुर/बिलासपुर, 02/2022

छत्तीसगढ़ से बड़ी खबर सामने आई है जहां ईडी ने कार्यवाही करते हुए मुख्यमंत्री की उपसचिव सौम्या चौरसिया को गिरफ्तार किया है। उपसचिव की गिरफ्तार से राजनीतिक गलियारों में हड़कंप मच गया है और चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। इस गिरफ्तारी से प्रदेश भर में हलचल तेज हो गई है।

आपको बता दें की ईडी ने सौम्या को शुक्रवार 02 दिसंबर की शाम न्यायाधीश अजय सिंह की अदालत में पेश किया। इससे पहले सौम्या को अंबेडकर अस्पताल ले जाया गया। रूटीन चेकअप के बाद उन्हें कोर्ट ले जाया गया। सौम्या चौरसिया को अब 06 दिसंबर 2022 को पेश किया जाएगा। ईडी की कार्रवाई में यह 5वीं गिरफ्तारी है। सौम्या को कोर्ट में पेश ईडी ने पूछताछ के लिए समय मांगा।

छत्तीसगढ़ में मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की उपसचिव सौम्या चौरसिया को मनी लांड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया है। इसके बाद ईडी ने उसे कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने सौम्या चौरसिया को चार दिन तक ईडी की रिमांड में सौंप दिया है। ईडी ने 14 दिन की रिमांड की मांग की थी। करीब ढाई घंटे की बहस के बाद कोर्ट ने यह फैसला दिया।जानकारी के मुताबिक 06 तारीख को शाम पांच बजे ईडी कोर्ट में सौम्या को पेश किया जाएगा। इस बीच चार दिन तक सौम्या ईडी की रिमांड पर हिरासत में रहेंगी। कोर्ट ने महिला मानवाधिकार की गाइडलाइन का पालन किए जाने की शर्त पर रिमांड दी है।

ईडी को सौम्या के खिलाफ कोयला खनन और मनी लॉन्ड्रिंग में अवैध लेनदेन के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण सबूत मिले हैं। अधिकारियों ने कहा कि जांच में समय लगेगा, कई दस्तावेजों और सबूतों की जांच की जा रही है। सौम्या से पहले कारोबारी सूर्यकांत तिवारी, लक्ष्मीकांत तिवारी और सुनील अग्रवाल ईडी की गिरफ्त में आ चुके हैं। आईएएस समीर विश्नोई भी पकड़े जा चुके हैं । चारों इस मामले में फिलहाल रायपुर जेल में बंद हैं। सभी को 06 दिसंबर तक न्यायिक रिमांड पर भेज दिया गया है। कोर्ट उनके मामले की सुनवाई 6 को करेगा।

इससे पहले अक्तूबर महीने में प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने रायपुर के सयाजी होटल में डेरा जमाया था। होटल को ही अपना कैंप ऑफिस बना लिया था। प्रदेश के अलग-अलग जिलों में कार्रवाई के बीच माइनिंग डायरेक्टर जेपी मौर्य को कैंप ऑफिस ले जाया गया था। इसके बाद चिप्स (छत्तीसगढ़ इंफोटेक प्रमोशन सोसायटी) के सीईओ समीर विश्नोई और उनकी पत्नी को भी पूछताछ के लिए बुलाया था। वहीं ईडी द्वारा पूर्व की कार्रवाई में एक आईएएस अफसर के घर से चार करोड़ कैश, सोना और करोड़ों की ज्वैलरी बरामद की थी। हालांकि अफसर का नाम सामने नहीं लाया गया था, इसके बाद शाम तक दिल्ली से ईडी के अन्य अफसर भी रायपुर पहुंचे थे। बताया गया था कि CRPF के करीब 200 जवान और छत्तीसगढ़ पहुंचे थे। ईडी के टारगेट में कोयला और रेत का कारोबार करने वाले लोग ज्यादा हैं।

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

सीएम भूपेश बघेल ने कहा... उपसचिव सौम्या की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित... हम पूरी ताकत से लड़ेंगे...

Sat Dec 3 , 2022
सीएम भूपेश बघेल ने कहा… उपसचिव सौम्या की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित… हम पूरी ताकत से लड़ेंगे… रायपुर/बिलासपुर, दिसंबर, 03/2022 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने डिप्टी सेक्रेटरी सौम्या चौरसिया के खिलाफ ईडी की कार्यवाई को राजनीति से प्रेरित बताया है। मुख्यमंत्री बघेल ने सोशल मीडिया में लिखा है की […]

You May Like

Breaking News