व्यापारी ने जमीन गिरवी रख लिया था सूदखोर डॉक्टर से कर्ज… पैसे मिलने के बाद भी डॉक्टर और उसकी पत्नी ने हड़प ली जमीन… पीड़ित ने सूदखोर पति-पत्नी के खिलाफ कराई एफआईआर…

व्यापारी ने जमीन गिरवी रख लिया था सूदखोर डॉक्टर से कर्ज… पैसे मिलने के बाद भी सूदखोर और उसकी पत्नी ने हड़प ली जमीन… पीड़ित ने सूदखोर पति-पत्नी के खिलाफ कराई एफआईआर…

बिलासपुर, जुलाई, 22/2023

विद्या नगर निवासी एक व्यवसायी ने अपनी पत्नी के नाम की जमीन को गिरवी रखकर उधारी पैसे लिए थे। लेकिन जिस व्यक्ति से उधार पैसे लिए थे उस दंपति ने उस गिरवी जमीन को फर्जी तरीके से षड्यंत्र कर अपने नाम रजिस्ट्री करवा ली। इस मामले में दोनों पक्षो में न्यायालय में समझौता होने पर जमीन के बदले कर्ज में लिए रुपये व ब्याज मिलाकर वापस लौटाने के बाद भी जमीन पीड़ित को नही सौप रहा है पीड़ित व्यापारी ने सूदखोर डॉक्टर और उसकी पत्नी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है मामला तारबाहर थाना क्षेत्र का है।

डॉ. सुकान्त विश्वकर्मा और कविता विश्वकर्मा…

आपको बता दे कि विद्यानगर में रहने वाले व्यवसायी शरद तिवारी ने तारबाहर थाना में धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज करवाई है। उनका कहना है कि उनकी पत्नी कंचन तिवारी के नाम पर सकरी में 56 डिसमिल जमीन है। उस जमीन के एवज में उन्होंने अपने परिचित टैगोर इंस्टिट्यूट सकरी के डायरेक्टर डॉ. सुकांत विश्वकर्मा और उसकी पत्नी कविता विश्वकर्मा से 25 लाख रुपये उधार लिया था। जमानत के तौर पर उन्होंने 25 लाख रुपये का चेक दिया। साथ ही जमीन को गिरवी रखने और ब्याज समेत 43 लाख रुपये वापस करने का नौ अक्टूबर 2018 को इकरारनामा किया। डॉ. सुकान्त ने दवाबपुर्वके अपने नाम मुख्तियारनामा लिखवा लिया। लिखा पढ़ी होने के दूसरे दिन ही डॉ. सुकांत चेक को बैंक में लगाकर बाउंस करा दिया। इसके एक महीने बाद सुकांत ने न्यायालय में परिवाद पेश कर दिया। न्यायालय में मामला लंबित रहने के दौरान ही मुख्तियार नामा के आधार पर सुकांत ने अपने ही नाम पर जमीन की रजिस्ट्री करा ली। इसकी जानकारी होने पर शरद ने अपनी जमीन को वापस मांगने कविता और सुकान्त से मुलाकात की और समझौता होने के बाद शरद तिवारी ने डॉ सुकान्त विश्वकर्मा को 25 लाख और ब्याज न्यायालय के समक्ष वापस किया पैसे मिलने पर सुकान्त ने जमीन वापस करने का वादा किया था। पीड़ित ने कई बार जमीन लौटने कहा पर सुकांत टालमटोल करने लगा। तब इसकी शिकायत पीड़ित ने थाने में की।

Author Profile

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor
Latest entries

Lokesh war waghmare - Founder/ Editor

Next Post

नगर निगम आयुक्त से छात्रों ने पूछा IAS कैसे बनते है... वार्ड पार्षद केशरवानी ने स्कूल सहित वार्ड के विकास के लिए माँगा सहयोग...

Sat Jul 22 , 2023
नगर निगम आयुक्त से छात्रों ने पूछा IAS कैसे बनते है… वार्ड पार्षद केशरवानी ने स्कूल सहित वार्ड के विकास के लिए माँगा सहयोग… बिलासपुर, जुलाई, 22/2023 लिंगियाडीह स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय लिगियाडीह में शुक्रवार को नि:शुल्क सरस्वती साइकिल योजना के तहत साइकिल का वितरण किया गया। नि:शुल्क साइकिल का […]

You May Like

Breaking News